Dogecoin – journey from meme to cryptocurrency

Cryptocurrency_Dogecoin_History
शेयर करें

Dogecoin, Bitcoin या Ethereum की तरह एक Cryptocurrency है। क्रिप्टोकरेंसी Cryptocurrency डिजिटल मुद्रा होती है, जिसे निवेश की तरह खरीदा और बेचा जा सकता है और पैसे की तरह खर्च किया जा सकता है। Dogecoin को मुख्य रूप से क्रिप्टो के प्रति उत्साही लोगों के लिए एक मजाक के रूप में बनाया गया था, और इसका नाम एक लोकप्रिय Meme से लिया गया था। इस असामान्य तरीके से उत्पत्ति के बावजूद, यह 2021 में अचानक से इतना लोकप्रिय हो गया की रातों रात इसकी कीमत दोगुनी हो गई। Coin Market Cap के अनुसार, यह बाजार में पांचवी सबसे मूल्यवान क्रिप्टोक्यूरेंसी है, इस वर्ष 6,000% से अधिक की वृद्धि हुई है। अब Dogecoin की Market Value 50 अरब डॉलर हो गई है।

आज हम आपको राकेट की रफ़्तार से बढ़ती हुई Cryptocurrency, Dogecoin के इतिहास के बारे मे बताने जा रहे है। साथ ही कैसे इस्तेमाल होता है वह भी आपको बताएंगे। अगर आप भी अपना ज्ञान बढ़ाना चाहते है तो यह आर्टिकल पूरा पढ़े हमे पूरा विश्वास है आप निराश नहीं होंगे।

Dogecoin क्या है?

Dogecoin किसने बनाया?

Dogecoin क्यों इतना मशहूर हो गया?

Dogecoin कैसे काम करता है?

क्या Dogecoin खरीदना सुरक्षित है?

क्या इसे भारत में खरीद सकते है?

Dogecoin क्या है?

सभी क्रिप्टोकरेंसी की तरह, Dogecoin भी एक डिजिटल मुद्रा (Digital Money) है जिसे निवेश की तरह खरीदा और बेचा जा सकता है और पैसे की तरह खर्च किया जा सकता है।

हालांकि सभी क्रिप्टो अनोखे है, सबकी अपनी खासियत है। परन्तु इन सबमे कुछ महत्वपूर्ण अंतर भी है। जैसे की Bitcoin की एक सीमित राशि 21 मिलियन निर्धारित की गई हैं, जबकि अभी ही Dogecoin के संचलन में 100 बिलियन सिक्के हैं और यह हर साल हमारे लिए सिक्कों के नए ब्लॉक माइन कराता रहेगा।

यही कारण है कि वर्तमान में एक Dogecoin का मूल्य लगभग Three dimes है और एक Bitcoin की कीमत लगभग $62,000 यानि भारतीय रुपए के अनुसार लगभग 45,00,000 है।

Dogecoin_History

Dogecoin किसने बनाया?

इस डिजिटल मुद्रा को दिसंबर 2013 में सॉफ्टवेयर इंजीनियर बिली मार्कस (Billy Markus) और जैक्सन पामर (Jackson Palmer) द्वारा, Bitcoin से तेज लेकिन “मजेदार” विकल्प के रूप में, एक नई क्रिप्टोकरेंसी पेश कि गईं। यह उस समय की मशहूर क्रिप्टो सिक्कों पर एक व्यंग्य के रूप में शुरू हुआ था। इसका नाम और लोगो “Doge” एक प्रसिद्ध Meme से लिया गया था, जिसमें जापानी नस्ल के कुत्ते शीबा इनु की छवि थी जो कई साल पहले वायरल हुआ था।

2010 मे एक जापानी किंडरगार्टन शिक्षक अत्सुको सातो (Atsuko Sato) ने अपने शीबा इनु कुत्ते (Shiba Inu Dog) काबोसु (Kabosu) की कुछ तस्वीरें ऑनलाइन पोस्ट कीं। उसी वर्ष अक्टूबर 2010, Reddit पर किसी ने “LMBO LOOK @ THIS FUKKEN DOGE” के कैप्शन साथ एक तस्वीर को पोस्ट कर दिया। तभी से यह मेमे प्रसिद्ध होने लगा।

अपने शुरुआती दिनों में, उत्साही लोगों के एक Online Community ने Dogecoin की प्रोफ़ाइल को बढ़ाने के लिए और उसके प्रचार करने के लिए चैरिटी की व्यवस्था की। उदाहरण के लिए, उन्होंने इसका उपयोग करके 2014 शीतकालीन ओलंपिक (Winter Olympics) के लिए जमैका की बोबस्लेय टीम को भेजने के लिए धन इकट्ठा किया, इसके अलावा उसी वर्ष US में एक NASCAR ड्राइवर जोश वाइज को रेस के लिए $55,000 मूल्य का डिजिटल टोकन दिया और उसने अपनी कार पर Dogecoin का पोस्टर लगया। जिसने Dogecoin को और मशहूर कर दिया।

Dogecoin_History
image via TaurusEmerald, Josh Wise Sonoma 2014, CC BY-SA 4.0

बस फिर क्या था। ‘DOGE’ की लोकप्रियता बुलंदियों पर पहुंच गई। यह एक मीम से, फिर टी-शर्ट और मग जैसी फ्रैंचाइजी पैदा हुई, डिजिटल क्रिप्टोक्यूरेंसी की बीच एक ‘मजाक’ के रूप में जो शुरू हुआ वह एक बड़ी घटना बन गया।

Dogecoin क्यों इतना मशहूर हो गया?

डॉगकोइन अब सिर्फ एक मजाक नहीं है। इसकी लोकप्रियता इतनी बढ़ गई है की इस वर्ष ये बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोक्यूच्युड्स के साथ मुख्यधारा मे शामिल हो गया है। इसके इतना मशहूर होने की पीछे कई कारण है। दुनिया के कई प्रसिद्ध लोग इसका समर्थन कर रहे है।

इस हफ्ते अमेरिका में सबसे लोकप्रिय virtual currency exchange कॉइनबेस (Coinbase) की सूची।

सबसे पहले स्पेसएक्स (SpaceX) के संस्थापक और टेस्ला (Tesla) के सीईओ एलोन मस्क (Elon Musk) Dogecoin के सबसे बड़े और सबसे प्रमुख समर्थक हैं। उनके 50 मिलियन फॉलोअर्स के लिए इसलिए उनका एक विचित्र ट्वीट् क्रिप्टोकरंसी को बढ़ा सकता है।

अप्रैल में ऐसा ही हुआ, जब Musk ने ट्वीट किया की “Doge Barking at the moon” और स्पेनिश कलाकार जोआन मिरो (Joan Miró) की एक पेंटिंग की एक तस्वीर साझा की, जिसका शीर्षक है “Dog Barking at the Moon।

Elon Musk के इस ट्वीट से Dogecoin की कीमतों मे अचानक से उछाल आ गया। ऐसे ही Musk ने एक बार अपने ट्विटर बायो को “डोगेकोइन के पूर्व सीईओ” में बदल दिया था।

Rapper Snoop Dogg और Rock Musician Gene Simmons, सहित अन्य हस्तियों ने भी सोशल मीडिया पर इस क्रिप्टो करेंसी Crypto Currency का प्रचार किया है।

इसके कीमतों में उछाल के पीछे एक मुख्य कारण, अन्य क्रिप्टो के बढ़ती कीमतों को भी कहा जाता है। दरअसल BItcoin और Ethereum की बढ़ती कीमत ने Dogecoin की कीमत को भी प्रेरित किया है।

इसकी वर्तमान सफलता के पीछे एक अन्य कारण SatoshiStreetBets, नामक एक Reddit group को भी कहा जाता है, इसके सदस्यों ने Crypto Currency के लिए उसी तरह उत्साह दिखाया, जैसे इस साल की शुरुआत में एक अन्य Reddit group “WallStreetBets” ने गेमस्टॉप GameStop के लिए दिखाया था।

Dogecoin कैसे काम करता है?

Dogecoin एक क्रिप्टोकरेंसी है जो Bitcoin और Ethereum की तरह Blockchain Technology पर चलती है। ब्लॉकचेन एक वितरित, सुरक्षित Digital Ledger है जो एक Digital Money का उपयोग करके किए गए सभी लेनदेन को संग्रहीत करता है।

सभी Currency Holders के पास Dogecoin Blockchain Ledger की एक समान प्रति होती है, जिसे अक्सर क्रिप्टोक्यूरेंसी में किये गए सभी नए लेनदेन के साथ update किया जाता है। अन्य क्रिप्टोकरेंसी की तरह, Dogecoin का Blockchain Network सभी लेनदेन को सुरक्षित रखने के लिए Cryptography का उपयोग करता है।

लोग, कंप्यूटर का उपयोग करके Complex Mathematical Equations को हल करते हैं जिसे Mining कहा जाता है, और Mining करने वाले लोगों को Miners कहा जाता है। हल की गई Equation की जांच करने के बाद, लेन-देन के प्रोसेस किया जाता और इसके बदले में Miners, अतिरिक्त Dogecoin कमाते हैं, जिसे वे चाहे तो रख सकते है या Open Market में बेच सकते हैं। लेन-देन के सारे Updates को Dogecoin BLockcoin पर रिकॉर्ड करते हैं। जिसे “proof of work” कहा जाता है।

Dogecoin_Facts

क्या Dogecoin खरीदना सुरक्षित है?

कुछ निवेशकों ने आशंका व्यक्त की है कि Dogecoin का उदय एक बुलबुला जैसे है, क्योंकि उन्हें खरीदारों के लिए इस Digital Money मे कोई सार्थक मूल्य नहीं दिखता है, कीमत बढ़ने के दौरान ये केवल पैसा बनाने के लिए व्यापार की तरह हैं। क्यूंकि जितनी तेजी से वे बढ़ सकते हैं, वे क्रैश भी हो सकते है। हालाँकि क्रिप्टो को सामान खरीदने और भुगतान के लिए मुद्रा के रूप में अधिक स्वीकृति मिल रही है, लेकिन Dogecoin का वास्तविक दुनिया में अधिक उपयोग नहीं है।

इसके अलावा Dogecoin की संख्या पर कोई Lifetime Limit नहीं है, Blockchain हर दिन लाखों नए Dogecoin बनाकर Miners को उनके काम के लिए पुरस्कृत करता है, जिससे लाखों Dogecoin हर एक दिन बाजारों में जारी किए जाते हैं। इसलिए लंबे समय तक Crypto Currency को बनाए रखना बहुत चुनौतीपूर्ण हो जाता है। इसके विपरीत Bitcoin के मूल्य में वृद्धि जारी है क्योंकि सिस्टम द्वारा बनाए जा सकने वाले सिक्कों की संख्या पर Lifetime Cap है।

साथ ही Dogecoin में जो लाभ 2021 में देखा गया है, वह लंबी अवधि में टिकाऊ नहीं है। क्रिप्टो का गिरना और बढ़ाना जारी है। इसलिए डॉगकोइन को निवेश के रूप मे खरीदने के बारे में थोड़ा सावधान रहने की जरुरत है। क्योंकि किसी भी प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी खरीदने में जोखिम होता है, और इसमें डॉगकोइन भी शामिल है।

क्या इसे भारत में खरीद सकते है?

जी हाँ। Dogecoin को किसी भी Cryptocurrency Wallet या Online Platform के माध्यम से भारत मे भी खरीदा जा सकता है। इन प्लेटफार्मों को KYC प्रक्रिया की आवश्यकता होती है जिसका उपयोग आपके द्वारा दी जानकारी की जाँच करने के लिए किया जाएगा।

Different Types of Cryptocurrency in Hindi

Full Forms / फुल फॉर्म्स हिंदी और इंग्लिश मे।

 
 

शेयर करें

Related posts

Leave a Comment